एक सीख-सीखने के लिए

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है और समाज में रहकर सहयोग और समन्वय से बहुत कुछ सीखता है। निर्मल भरतिया विद्यालय में भी हम सहयोग और समन्वय द्वारा श्रेष्ठता को प्राप्त करते हैं। हम भाषा के सभी कौशलों को कैसे समृद्ध करते हैं और कैसे विभिन्न गतिविधियों द्वारा हिंदी भाषा को आसान तथा रुचिकर बनाते हैं ? यही बताने के लिए प्रतिवर्ष लर्निंग टू लर्न का आयोजन किया जाता है ; जिसमें हिंदी के कौशलों से संबंधित गतिविधियाँ करवाई जाती हैं ।

आओ ! मिलकर सीखें- छात्र-शिक्षक वार्तालाप

छात्रों द्वारा गतिविधि विज्ञापन प्रस्तुति

शिक्षक-अभिभावक सहभागिता

हम भी हैं तैयार ! प्रस्तुति हेतु तैयार छात्र

हिंदी भाषा के निर्धारित कौशल

निब्स में भाषा कार्यक्रम की योजना